Site icon AyurMart

लिवर में इन्फेक्शन के लक्षण, लिवर में हल्का दर्द | Liver Problem Symptoms In Hindi 

लिवर में इन्फेक्शन के लक्षण

लिवर शरीर का एक बहुत ही मुख्य भाग है लिवर हमारे पाचन तंत्र में एक मुख्य भूमिका निभाता है हमारे शरीर में लिवर ना होने पर जीवन संभव है जिस प्रकार ह्रदय शरीर में सभी कोशिकाओं में रक्त को सुचारू रूप से पहुंचाने का कार्य करता है। लिवर में शरीर का अंग है जिस के ना होने से जीवन असंभव है इसलिए अपने जी लिवर का प्रकार से ध्यान रखना चाहिए।

आज हम आपको लिवर में इन्फेक्शन के लक्षण तथा उनके घरेलू उपाय और आयुर्वेदिक उपाय के साथ इस कांटेक्ट को लेकर आए हैं तो बने रहे हमारे इस अकाउंट में और जाने कि किस प्रकार से हम अपने लिवर में इन्फेक्शन के लक्षण को समझे और फिर उसका अच्छे प्रकार से उपचार करवाने के लिए क्या करना चाहिए।

लिवर में इन्फेक्शन के लक्षण आज के समय में इसके रोगी बहुत अधिक मिल रहे हैं लेकिन कुछ लोग समझ नहीं पाते हैं कि लिवर में इंफेक्शन है या नहीं तो आज हम आप को समझाने की अपने शब्दों में आप को समझाने की कोशिश करेंगे।

ताकि आप लोगों की कन्फ्यूजन मिट सके और आप पता लगा सके कि क्या वाकई में हमारे लिवर में इंफेक्शन है या नहीं नीचे हम आपको बताएंगे कि क्या खाने से किस तरह का इंफेक्शन होता है क्या खाना खाने से भी इंफेक्शन होता है तो जानने के लिए बने रहे।

लिवर पाचन तंत्र का एक मुख्य हिस्सा है जो कि खाने को पचाने में बहुत अधिक मदद करता है यदि आपका लिवर गड़बड़ हो गया है तो आपके शरीर में धीरे-धीरे लोगों का आगमन शुरू हो जाएगा। और आपको पता भी नहीं चलेगा, क्योंकि शुरुआत में लिवर में इन्फेक्शन के लक्षण का पता नहीं लगता है

इसीलिए हम आपको ऐसी टिप्स बताएंगे इसको जान कर समझ कर आप पता लगा सकते हैं कि आपका भी लीवर मैं कुछ गड़बड़ी है यदि नहीं है तो भी आप पता लगा सकते हैं।

लिवर में इन्फेक्शन के लक्षण | Liver Problem Symptoms In Hindi 

अब तक आपने जाना लीवर क्या है और किस प्रकार से कार्य करता है आइए जानते हैं लिवर में इन्फेक्शन के लक्षण कौन से होते हैं यदि आपको इस प्रकार के किसी लिया लक्षण का असर होता है तो फिर आप समझ जाएं कि आप के लिवर में इन्फेक्शन हो रहा है।

1- शरीर में सूजन 

यदि रोगी लिवर के इंफेक्शन से ग्रसित है तो फिर उसके हाथ पैर तथा शरीर में सूजन आ जाती है जिससे पता लगाया जा सकता है कि उस रोगी के लिवर में इन्फेक्शन है एक कारण यह है, लिवर में इन्फेक्शन के लक्षण इसी के साथ हम आपको काफी सारे लक्षणों के बारे में बताइए।

2- शरीर की त्वचा तथा आंखें पीली होना 

लिवर के इंफेक्शन में रोगी के शरीर में शरीर की त्वचा पीली पढ़ना तथा आपको का भी पीला पड़ जाना यह भी एक संकेत है कि रोगी के लिवर में इन्फेक्शन है लिवर में इन्फेक्शन के कारण तो कई सारे होते हैं आप यदि इच्छा से अधिक भोजन का सेवन करते हैं तो भी आपके लिवर पर अत्यधिक लोड पड़ने के कारण आपका लिवर डैमेज हो जाता है।

3- भूख में कमी 

काफी सारे रोगियों को लिवर में इंफेक्शन होने पर भूख में कमी आ जाती है या यूं कहें कि खाने में किसी प्रकार का स्वाद नहीं आता है, जिसके फल स्वरुप रोगी खाना नहीं खा पाता है जब रोगी को खाने में स्वाद ही नहीं आएगा तो रोगी खाना कैसे खाएगा। और इसी के साथ रोगी को भूख ही नहीं लगती है। यह भी लिवर में इन्फेक्शन के लक्षण है।

4- शरीर में खून की कमी 

रोगी के शरीर में लिवर में इन्फेक्शन होने के कारण से धीरे-धीरे खून की कमी हो जाती है जिसके कारण शरीर पीला पड़ जाता है और रोगी गंभीर रोगों से परेशान होने लगता है ऐसे में रोगी को यदि अच्छी चिकित्सा ना मिली तो रोगी की मृत्यु भी हो जाती है तो यह भी एक प्रकार का लिवर में इंफेक्शन के लक्षण है।

5- ज्वाइंडिस/पीलिया की समस्या 

लिवर में इन्फेक्शन के लक्षण पीलिया भी एक बहुत प्रचलित बीमारी है जो कि लीवर में इंफेक्शन से ही पैदा होती है। इस रोग से भी आपको लीवर के इंफेक्शन के बारे में पता लगता है इसमें असल में होता यह है आपका शरीर धीरे-धीरे पीला होने लगता है और आपके आंखों का जो सफेद वाला भाग होता है

वह भी पीला होने लगता है जिससे पता लगता है कि आप के पीलिया की समस्या है और पीलिया की समस्या तभी होती है जब आपके लीवर में इंफेक्शन होता है, लिवर में इन्फेक्शन होने पर 50% लोगों में पीलिया के लक्षण हो जाते हैं। पीलिया का समय पर इलाज ना मिलने पर रोगी मृत्यु भी हो जाती है। 

6- खट्टी डकार 

आपका लिवर यदि खराब है तो फिर आपको खाना खाने के बाद खट्टी मीठी डकारे आती रहेंगी जिससे आपको पता लगेगा कि नहीं आपके लिवर में इन्फेक्शन के लक्षण हैं यदि ऐसे किसी भी प्रकार के शरीर में लक्षण देखने को मिलते हैं तो आपको समझ लेना चाहिए कि हमारा लिवर धीरे-धीरे इंफेक्शन के घेरे में आ रहा है और समय पर इलाज कराने से यहां ठीक भी हो जाता है।

7- स्त्रियों के मासिक धर्म में गड़बड़ी 

लिवर में इन्फेक्शन के लक्षण होने से स्त्रियों में हर महीने होने वाले मासिक धर्म में भी गड़बड़ी आ जाती है जैसे कि डेट से पहले होना या डेट के बाद में होगा ब्लीडिंग कम होना ब्लीडिंग ज्यादा होना जैसे लक्षण दिखाई देते हैं। जिससे स्त्रियों में खून की कमी हो जाती है और शरीर पीला होने लगता है।

7- कब्ज की समस्या 

रोगी का लीवर खराब होने पर रोगी को कब्ज की समस्या रहने लगती है क्योंकि यदि लंबे समय तक रहती है तो रोगी में बवासीर की समस्या भी हो जाती है और धीरे-धीरे चलकर पर गंभीर रोगों से वैसे तो हो जाता है तो कर लीवर में इंफेक्शन का संकेत मान सकते हैं क्योंकि यदि ठीक से पाचन नहीं होता है तभी कब्ज की समस्या होती है।

8- पुरुषों का स्तन बड़ा होना 

पुरुषों में लिवर में इन्फेक्शन के लक्षण होने पर पुरुषों के एक और का स्तन बड़ा हो जाता है, इसमे दाएं ओर का पुरुषों का स्तन बाएं स्तन से काफी बड़ा हो जाता है जिससे पता चलता है कि यह रोगी लिवर इंफेक्शन से ग्रसित है। ऐसे में रोगी को उल्टियां भी महसूस होती हैं।

9- रक्त स्राव 

रोगी यदि लिवर में इन्फेक्शन के लक्षण है। रोगी के नाक और मसूड़े से खून आता है और पायरिया की भी समस्या हो जाती है जिसके कारण मुंह से बदबू का आना शुरू हो जाता है।

9- शरीर कमजोर होना 

लिवर में इन्फेक्शन के लक्षण होने पर रोगी का शरीर कमजोर हो जाता है क्योंकि रोगी जो भी खाता है वह ठीक से पाचन नहीं होता है जिसके फलस्वरूप रोगी को प्रोटीन और विटामिन की भरपूर मात्रा नहीं मिल पाती है और धीरे-धीरे रोगी का शरीर कमजोर होने लगता है और रोगी कई सारी बीमारियां से घेरने लगती हैं।

10- पेशाब पीला होना 

सबसे पहला लिवर में इन्फेक्शन के लक्षण यह है कि जब आप मूत्र त्याग करने जाते हैं तो आप का मूत्र पीला हो जाता है यहां भी एक प्रकार का संकेत है कि आपके लिवर में किसी प्रकार की गड़बड़ी या इंफेक्शन हो रहा है जिस को आप मात्र पानी पीकर ही दूर कर सकते हैं यह प्रकार का संकेत है कि आपके शरीर में पानी की कमी हो रही है जिसके कारण लिवर पर बुरा असर हो रहा है।

12- खुजली होना 

लिवर में इन्फेक्शन के लक्षण आपके शरीर में कहीं पर भी खुजली हो सकती है जैसे टांगों के बीच में यह शरीर में मुंह में दाने निकलना सिर में खुजली होना ऐसा इसलिए होता है क्योंकि लीवर खराब होने पर आपके शरीर में जो खून बनता है वह शुद्ध नहीं होता है जिसके फलस्वरूप शरीर में खुजली उत्पन्न हो जाती है।

13- त्वचा के रोग होना 

लिवर में इन्फेक्शन के लक्षण आपकी त्वचा में भी देखने को मिलेंगे त्वचा में इंफेक्शन हो जाती है कई प्रकार के आपके चेहरे पर दाने निकल आएंगे हाथों में दाने निकलने की समस्या और इसी के साथ जननांग में खुजली होना कभी-कभी बंद हो जाए और पुनः फिर होने के लक्षण भी लिवर में खराबी की का संकेत देते हैं।

14- जल्दी थकावट लगना 

लिवर में इन्फेक्शन होने के कारण आपके शरीर में अच्छी प्रकार से खून की सफाई नहीं होती है और पाचन भी खराब रहता है जिसके फलस्वरूप आप के शरीर में विटामिन की कमी हो जाती है और आप किसी भी कार्य को करने में बहुत जल्दी थक जाते हैं यह भी लिवर में इन्फेक्शन के लक्षण है।

15- बार बार मल त्याग करने जाना 

लिवर गड़बड़ होने पर आप जो भी खाते हैं खाते ही तुरंत मल त्याग करने के लिए जाना पड़ता है ऐसा इसलिए होता है क्योंकि आपका लिवर सही से कार्य नहीं कर रहा होता है और आप बिना किसी इलाज के बाहर की तली हुई चीज खा लेते हैं, कभी कभी ऐसा देखने को मिलता है, कि आप जो भी खाते हैं, बिना पाचन के वह सीधे ही वैसा ही निकलता है। ऐसे लक्षण होने पर आपको तुरंत ही किसी अच्छे चिकित्सा से अपना इलाज करवाना चाहिए।

16- मल का कठोर हो जाना 

लिवर में इन्फेक्शन के लक्षण एक यह भी लक्षण है यदि आप कारपेट ठीक प्रकार से साफ नहीं होता है मल कठोर होता है यहां तक कि जवाब सुबह मल त्याग करने जाते हैं तो आपके गुदाद्वार में घाव हो जाते हैं आपको इस अवस्था में अधिक मात्रा में पानी और सूखे भोजन का सेवन नहीं करना चाहिए। 


लिवर में इन्फेक्शन होने का कारण 

-खाने का एक निश्चित समय ना होना जब मन हो तब खाना और भूख से अधिक भोजन करना कहने का अर्थ है अगर आप प्रतिदिन एक निश्चित समय पर भोजन नहीं करते हैं तो इसके कारण भी आपके लिवर में इंफेक्शन हो सकता है।

-शराब का ज्यादा दिनों तक सेवन करने से लिवर की कोशिश कहां है नष्ट होने लगती है। अंत में परिणाम आपके लिए बहुत बुरा होता है।

-उदर रोग के कारण, पेंचिस, टाइफाइड ज्वर, यहां सभी रोगों का लंबे समय तक रहना आपके लिवर को डैमेज या इन्फेक्शन कर देता है।

-बार-बार मलेरिया बुखार का आपके शरीर पर आक्रमण करना।

-जिन बच्चों को सूखा रोग होता है उनका लिवर खराब हो जाता है।

-गरम मसाला, लाल मिर्च, का अत्यधिक सेवन करने से लिवर धीरे-धीरे खराब होने लगता है।

-लंबे समय से किसी बीमारी से जूझ रहे हैं और -अत्यधिक और अंग्रेजी औषधियों का सेवन करने से धीरे-धीरे लिवर में इन्फेक्शन होने लगता है।

-अत्यधिक दिनों से शराब पुणे से यकृत में परिवर्तन आ जाता है जिससे लिवर धीरे-धीरे इन्फेक्शन या खराब होने लगता है।

लिवर इन्फेक्शन में क्या खाना चाहिए 

-लिवर में इन्फेक्शन से बचने के लिए शरीर में पानी की कमी ना होने देना।

-लिवर में इन्फेक्शन होने पर ठंडी चीजों का अधिक मात्रा में सेवन करना चाहिए जैसे कि ताजी सब्जी ताजे फल फ्रूट इत्यादि।

-लिवर में इन्फेक्शन होने पर आपको फाइबर से युक्त चीजों का प्रयोग अधिक से अधिक मात्रा में करना चाहिए यह लीवर के लिए लाभदायक होता है।

-शरीर में पानी की कमी ना होने दें थोड़ी-थोड़ी मात्रा में पानी का सेवन बराबर करते रहें पानी का सेवन करने से आपके पेट में कब्ज नहीं बनेगी और लीवर के लिए भी लाभकारी होगा।

-गुनगुने पानी में 5 से 10 एम एल की मात्रा में नींबू का रस मिलाकर सेवन करने से बढ़ा हुआ लीवर धीरे-धीरे कम होने लगता है यानी कि लिवर का फैट कम होने लगता है।

-ताजी और हरे रंग की सब्जियों का अधिक मात्रा में सेवन करें क्योंकि सब्जियों का सेवन करने से आप का पाचन तंत्र मजबूत रहेगा जिससे लिवर की समस्या नहीं होगी और यदि होगी भी तो इन सब्जियों का सेवन करने से आपको लाभ मिलेगा।

-प्रतिदिन सुबह नाश्ते में पपीते का सेवन करें आप इस पपीते में थोड़ा सा लाल नमक मिलाकर सेवन करें तो आपको और भी फायदा होगा।

-सेब के सिरके का सेवन करना आपके लिवर के लिए बहुत ही लाभकारी होगा इसलिए आपको 10 से 15 मेल की मात्रा में प्रतिदिन सेब के सिरके का सेवन करना चाहिए। 

-प्रतिदिन सुबह खाली पेट नाश्ते में फलों का अत्यधिक सेवन करें जितना हो सके उतना तली भुनी चीजों का सेवन करने से बचें।

-लिवर में इन्फेक्शन होने पर इन फलों का सेवन करें जैसे कि अंगूर, नाशपाती, केला, ब्लूबेरी, पपीता, अंजीर, तरबूज, खरबूजा, मुसम्मी के जूस का सेवन, इन सभी का सेवन करना आपके लिवर के लिए बहुत ही लाभकारी होगा।

लिवर में इन्फेक्शन के लक्षण दिखाने पर इन घरेलू उपाय का प्रयोग करें 

आइए दोस्तों जानते हैं कुछ घरेलू उपाय के बारे में जींस को आप घर पर ही करके आप अपने लिवर और पाचन क्रिया दोनों को काफी स्ट्रांग कर सकते हैं तो आइए जानते हैं किन चीजों का लिवर में इन्फेक्शन के लक्षण दिखने पर उपयोग करना चाहिए तथा किन चीजों का नहीं करना चाहिए नीचे हम आपको संपूर्ण जानकारी प्रदान कर आएंगे आशा करते हैं दोस्तों हमारी जानकारी आपको पसंद आ रही होगी।

पपीता और केला से लिवर में इन्फेक्शन के लक्षण को ठीक करे

कच्चे पपीते का ताजा दूध चार से पांच बूंद और एक पका हुआ केला लेकर दोनों को आपस में अच्छे प्रकार से फेंट कर भोजन के बाद दिन में 2 बार सेवन करने से लिवर वृद्धि में लाभ मिलता है।

खरबूजा से लिवर में इन्फेक्शन के लक्षण का इलाज 

कच्चे खरबूजे के फल को छीलकर कद्दूकस काटकर एक कढ़ाई में थोड़ा सा घी डालकर पका लें। फिर पोटली के समान बनाकर रोगी के पेट पर बांधने से यकृत वृद्धि में लाभ मिलता है।

मूली से लिवर का रामबाण इलाज 

20 ग्राम मूली के ताजे रस में 20 ग्राम मकोय का रस मिलाकर दिन में दो से तीन बार सेवन करने से यकृत/लिवर की सूजन, ज्वाइंडिस (jaundice) आदि रोगों को नष्ट कर देता है।

एलोवेरा रस से लिवर में इन्फेक्शन के लक्षण का उपचार

1-एलोवेरा का रस 5 ग्राम और हल्दी का चूर्ण आधा ग्राम तथा आधा ग्राम सेंधा नमक मिलाकर सुबह शाम रोगी को सेवन कराने से लिवर की वृद्धि में लाभ मिलता है।

2-एलोवेरा के ताजे पत्ते को लेकर उस को बीच से चीरकर उसमें 4 से 5 ग्राम नौसादर डालकर थोड़ी देर के बाद रख दे फिर इस पत्ते से एलोवेरा का रस निकालकर एकत्रित करें इस रस की 15 से 20 बूंद 50ml पानी में डालकर सेवन करने से लिवर की सूजन मिट जाती है।

अंबरबेल से लिवर में इन्फेक्शन के लक्षण को घर पर उपचार

1-अंबरबेल को 5 से 10 ग्राम की मात्रा में लेकर पानी में पीसकर लगाने से लिवर की कठोरता दूर होती है।

2-अंबरबेल को दो से 5 ग्राम की मात्रा में लेकर 100ml पानी में उबालकर जब पानी 50ml शेष रह जाए फिर इस काढ़े का सेवन करने से लिवर की शक्ति बढ़ती है।

नौसादर से लिवर में इन्फेक्शन का उपचार

नौसादर को 1 ग्राम की मात्रा में लेकर पानी में घोलकर प्रति दिन 4 से 5 बार सेवन करने से लीवर संबंधित समस्त रोग समाप्त हो जाते हैं तथा इसका सेवन करने से लिवर और पित्त सूजन में भी लाभ मिलता है।

मकोय से लिवर में इन्फेक्शन के लक्षण दिखने इलाज

मकोय के पौधे को लेकर एक मिट्टी के बर्तन में डालकर पकाएं जब यह पौधा गुलाबी रंग का हो जाए तब इसका रस निकालकर छानकर रख लें फिर इस रस को 20 से 25 ML. की मात्रा में लेकर सुबह खाली पेट सेवन करने से यकृत की वृद्धि होना रुक जाती है 

करेला से लिवर में इन्फेक्शन के लक्षण का उपचार

ताजे करेले का रस 20 से 50ml की मात्रा में निकालकर निरंतर एक से डेढ़ माह तक सुबह खाली पेट सेवन करने से लिवर के रोग मिट जाते हैं। इस प्रयोग से मात्र आपका लिवर ही नहीं बल्कि यदि आपको शुगर की समस्या है तो भी रामबाण औषधि का कार्य करता है। 

दोस्तों कैसी लगी हमारी पोस्ट उम्मीद है हमारी जानकारी आपके लिए कुछ ना कुछ लाभ पहुंचाएगी यदि आप लिवर से जुड़ी किसी और भी जानकारी के बारे में पाना चाहते हैं तो कमेंट करके अवश्य बताएं इस जानकारी को लोगों तक शेयर करें ताकि लोग भी उसका फायदा उठा सकें यदि आपको लीवर में किसी प्रकार के लक्षण दिख रहे हैं तो आपको किसी अच्छे डॉक्टर को दिखाना चाहिए ताकि समय पर अपना इलाज करा कर अपना जीवन निरोग कर सकें। धन्यवाद 

ये भी पढ़ें…..

Exit mobile version