Site icon AyurMart

Khatu Shyam Story सुनकर आप अपने आप को काटे जाने से नहीं रोक सकोगे

Khatu Shyam Story पढ़ते है वैसे तो बाबा को हारे का सहारा कहते हैं जब सारे मंदिरों में लोग हार जाते हैं तब खाटू वाले श्याम के दरवाजे आते हैं और यकीन मानो काम बनकर ही जाते हैं।

ऐसे ही एक सरदार जी पर खाटू श्याम की कृपा हुई जिसकी कथा आपके लिए लेकर है। इन पर जो कृपा हुई जानकर और स्वयं पर विश्वास करने लगेंगे।

Khatu Shyam Story खाटू श्याम के चमत्कार

अपनी एक सरदार जी जो लुधियाना शहर के रहने वाले थे उनके पास एक टूटी सी साइकिल थी और एक छोटी सी झोपड़ी थी।

लेकिन सरदार जी के साथ खाटू श्याम जी ने चमत्कार किया आईए जानते हैं वह चमत्कार क्या था।

सरदार जी के नाम पर ढाई सौ एकड़ जमीन जिस पर 20 सालों से कोर्ट में कैसे चल रहा था।

किसी ने कहा कि दिल्ली से बस जा रही है खाटू श्याम जी को फ्री ऑफ कास्ट और देसी घी के भजन की भी व्यवस्था है।

सरदार जी ने सोचा वैसे भी परेशान हूं बस में बैठ लेता हूं 2 दिन अच्छे से निकल जायेंगे। और खाटू श्याम बाबा जी के दर्शन भी हो जाएंगे।

सरदार जी खाटू पहुंचे तो सरदार जी ने क्या देखते हैं कि हमारे जैसे लेले जब से ₹10 निकले और खुशी से बोलते बाबा यह लो ₹10 लाख दिओ। अब सरदार जी ने देखा और मन में विचार किया कि यह सिस्टम तो अच्छा है।

तब सरदार जी ने अपनी जेब में हाथ डाला तो सिर्फ ₹5 ही निकले सरदार जी बोले बाबा हमें चढ़ाई ₹5 मेरा ढाई सौ एकड़ जमीन जिस पर कोर्ट में कैसे चल रहा है वह जमीन मेरे नाम हो जाए।

सरदार जी पर जमीन मेरे नाम होगी तो 10 लाख लेकर नहीं जाऊं 50 लाख चढ़ा के जाऊंगा तेरे दरबार में बोलो हारे के सहारे की जय

यह लोगों का सिर्फ वहां है कि खाटू मंदिर में काम होता है खाटू मंदिर में तो सिर्फ बाबा के दर्शन होते हैं। काम तो इस वक्त हो जाता है जब दिल्ली से गाड़ी का सेल्फ लगते हैं खाते जाने के लिए।

जब सरदार जी के पास 250 एकड़ जमीन आई तो, सरदार जी ने सबसे पहले 10 किले बेचे और 5 एकड़ जमीन बेची एक गाड़ी और एक कोठी 100 गज की बनवाई और एक गेस्ट हाउस बनवाया।

ऐसे होती है खाटू श्याम जी की कृपा इस कथा मध्यम से हमने आपको बताई हारे के सहारे की कृपा के बारे में। बोलो हारे के सहारे की जय

Khatu Shyam Story सुनने से श्याम की कृपा

खाटू श्याम के भजन पर कथाएं सुनने से जीवन में किए हुए पाप नष्ट हो जाते हैं तथा बाबा श्याम की कृपा से हमारे जीवन में खुशियां भर जाती है लेकिन एक बात का सदैव याद रखना चाहिए कभी किसी बेसहारा का सहारा नहीं जीना चाहिए और किसी दूसरे की कमाई पर अपना हाथ नहीं बताना चाहिए सदैव दूसरों के साथ अच्छा करें तीसरी बार आप पर खाटू श्याम की आवश्यक कृपा बोलो हर के सहारे की जय

Khatu Shyam Story से लाभ 

खाटू श्याम की कथा सुनने से लाभ की क्या ही बात करें आप थोड़े दिन बाबा श्याम की कथा भजन सुनकर स्वयं ही देख ले किस प्रकार से बाबा जी कृपा करते हैं जब मनुष्य सभी जगह से हार जाता है तब हमारे बाबा हर के सहारे ही काम आते हैं।

Barbarik Khatu Shyam Story 

खाटू श्याम जी का नाम बर्बरीक है यह घटोत्कच्छ के पुत्र थे उनकी माता का नाम अहिल्यवती था। बर्बरीक जी शिव महादेव के परम भक्त थे इन्होंने शिवजी की कठिन तपस्या करके शिवजी से वरदान में तीन बाण प्राप्त किया।

इसीलिए इनका तीन बाण के धारी भी कहा जाता है जब महाभारत काल में युद्ध हो रहा था तब यह माता जी की आज्ञा से युद्ध को प्रस्थान किया और माताजी ने यह कह कर भेजो कि जो इस युद्ध में हर रहा हो आप उसी के और से युद्ध करना तो माताजी की आज्ञा का पालन करते हुए युद्ध की और निकल पड़े।

तभी श्री कृष्ण जी कोई स्मरण हुआ कि बर्बरीक जी युद्ध के लिए निकल चुके हैं और माता जी की आज्ञा सेवा जो इस युद्ध में हर रहा है उसकी तरफ से और से युद्ध करेंगे तो श्री कृष्ण जी ने फरवरी जी से रास्ते में मिलकर उनसे उनका शीश दान में मांग लिया, और बदले में वरदान दिया कि कलयुग में आप हमारे नाम से जाने जाओगे जो नाम खाटू श्याम के नाम से प्रचलित होगा आप इसी नाम से पूजे जाओगे।

Khatu Shyam Story  बोलो हर के सहारे की जय

ये भी पढ़े..

Exit mobile version