Site icon AyurMart

स्वप्नदोष की रामबाण दवा | How to Stop Nightfall Permanently at Home

how-to-stop-nightfall-permanently-at-home

स्वप्नदोष की रामबाण दवा हिंदी में | Night fall in hindi

आज के समय में लोग सेक्स संबंधी समस्याओं से बहुत परेशान हैं सेक्स संबंधी रोग जैसे नाईट फॉल के बारे में नीचे जानकारी दे रहे हैं जैसे- स्वप्न दोष क्या है?, स्वप्न दोष के कारण, स्वप्न दोष के लक्षण, स्वप्नदोष की रामबाण दवा,  स्वप्नदोष के आयुर्वेद इलाज।

स्वप्नदोष क्या है?

जब पुरुषों में रात में सोते समय वीर्य स्खलित या वीर्य निकल जाता है तो उसे स्वप्नदोष कहते हैं।

1 महीने में 2 से 4 वर्ष स्वप्नदोष होना सामान्य है। इसमें चिकित्सा की भी कोई आवश्यकता नहीं होती है किंतु यदि स्वप्नदोष एक माह में 8 से 10 बार या इससे अधिक बार होने लगे तो वह रोग है और उसकी चिकित्सा की आवश्यकता होती है तथा उसकी समुचित चिकित्सा होनी ही चाहिए।

स्वप्नदोष सामान्य है या नहीं पहचानने के लिए कुछ लक्षणों का ध्यान देना पड़ता है पता चला कि स्वप्नदोष ज्यादा हो रहा है और रोगी ध्यान नहीं दे रहा है तो आगे चलकर उसको सेक्स संबंधी रोगों जैसे शीघ्रपतन लिंग कमजोर होना आदि। ऐसे समय पर लक्षण जानकर इसके चिकित्सा बहुत जरूरी है।

यह सही समय पर लक्षण पहचान कर चिकित्सा बहुत जरूरी है। इसलिए सही समय पर लक्ष्मण जानकर समझकर चिकित्सक से चिकित्सा अवश्य करवाएं।

स्वप्नदोष के कारण 

स्वप्नदोष रोग के मुख्य लक्षण | Nigthfall Rog ke mukhya lakshan

  1. भूख कम लगना।
  2. किसी के किसी कार्य को करने में जल्दी थक जाना। . . चेहरे की सुंदरता में कमी। 
  3. की स्मरण शक्ति का कम हो जाना। 
  4. व्यक्ति की स्मरण शक्ति कम हो जाना। 
  5. व्यक्ति की स्मरण शक्ति कम हो जाना। 
  6. किसी हंसी मजाक में शीघ्र ही क्रोध किसी हंसी मजाक की बात किसी हंसी मजाक की बात छोड़ दो तो शीघ्र ही गुस्सा आ जाता है। 
  7. आंखों के नीचे कोयो पर कालेपन के धब्बे हो जाना। 
  8. बार-बार जमुहाईया आना।
  9. शरीर के सभी अंगों में टूटने जैसी पीड़ा का होना।
  10. शरीर में आलस से बने रहना।
  11. किसी भी कार्य को करने में मन ना लगना।
  12. सिर में भारीपन तथा चक्कर आना।
  13. कभी-कभी मूत्र त्याग करते समय वीर्य निकल जाना।
  14. आत्मविश्वास की कमी होना।
  15. मुहं और गले गला सूखना। 
  16. हथेलियों तथा पैरों के तलवों में जलन होना। 
  17. अपने आपको सदैव बीमार समझना।
  18. रोग की अधिकता संपूर्ण शरीर को कमजोर बना देती है।  
  19. नेत्र अंदर धसने लगते हैं।
  20. सिर के बाल सफेद हो जाते हैं।
  21. हथेली और तलवों में पसीना अधिक आता है।
  22. ह्रदय दुर्बल हो जाता है और हृदय की धड़कन बढ़ जाती है। 
  23. मस्तिष्क खाली खाली सा रहने लगता है।
  24. व्यक्ति में वीर्य में शुक्राणुओं की कमी संतान शक्ति भी छेड़ हो जाती है। 
  25. अतः अंत में नपुंसकता भी हो सकती है। ऐसे लक्षण दिखे तो तुरंत चिकित्सक से चिकित्सा करवाएं।

स्वप्नदोष से पुरुषों की कमजोरी | Sapna dost se purushon me kamjori

  1. मन में तरह-तरह के संदेश उठना। 
  2. आज से बना रहना किसी काम को करने की इच्छा ना होना दबाव या मजबूरी से बेमन से थोड़ा बहुत काम करना। 
  3. आंखों के चारों ओर काले या नीले गिरे से दिखाई देना आंखों की रोशनी कम हो जाना आंखों को आंखों का गड्ढों के भीतर जाना। 
  4. दस्त साफ ना होना कब बने रहना। 
  5. नींद कम आना शरीर के समस्त जोड़ जोड़ों का ठंडा अनुभव होना जवानी में ही बाल सफेद या पीले हो जाना। 
  6. बालों का झड़ना कर गिरना तथा गंजा हो जाना। 
  7. पेट की रेट का झुक जाना कमर व पीठ में दर्द होना थोड़ी ना मुख और शरीर से दुर्गंध निकलना। 
  8. पेशाब में कभी-कभी जलन होना। 
  9. कमजोरी के कारण दिखाई कम देना एवं चश्मे की जरूरत पड़ना। 
  10. गले की आवाज बिगड़ जाना तथा कभी-कभी खांसी का होना एवं छाती में कफ भरा रहना। 

स्वप्नदोष होने पर क्या खाएं | sapne dosh (nightfall) hone per kya khayen

स्वप्नदोष की रामबाण दवा बनाएं | how to stop nightfall permanently at home

इसबगोल भूसी और मिश्री से स्वप्नदोष की रामबाण दवा बनाएंl

ईसबगोल भूसी और मिश्री दोनों की 3-3 मसा की मात्रा में 15 दिन तक रात में सोनी से पहले सेवन करने से स्वप्नदोष का रोग दूर हो जाता है।

हल्दी और दूध से स्वप्नदोष की रामबाण दवा बनाएं

आधा चम्मच हल्दी दूध में डालकर प्रतिदिन सेवन करने से स्वप्न दोष मिट जाता है।

कपूर और मिश्री से स्वप्नदोष की रामबाण दवा बनाएं

4 ग्रीन कपूर और मिश्री लेकर रात में सोने से पहले कुछ दिनों तक सेवन करने से स्वप्नदोष दूर हो जाता है

मुलेठी से स्वप्नदोष की रामबाण दवा बनाएं

मुलेठी को लेकर कूट पीसकर बारीक चूर्ण बना लें बाद में इसकी 2 मसा चूर्ण की मात्रा में एक तोला घी मिलाकर प्रातः के समय चाट कर ऊपर से 250 ml  दूध पीने से स्वप्नदोष (नाईट फॉल) की समस्या से शीघ्र ही निजात मिल जाता है.

गुलाब के ताजे फूल और मिश्री से स्वप्नदोष की रामबाण दवा बनाएं 

गुलाब के ताजे फूल 3 से 5 नग ले तथा मिश्री के साथ खाकर ऊपर से दूध पी ले  यह क्रिया आपको सुबह शाम करनी है ऐसा करने से स्वप्नदोष रोग ठीक हो जाएगा 

बबूल के गोंद से स्वप्नदोष की रामबाण दवा बनाएं।

बबूल का गोंद प्रतिदिन रात में 1 तोला की मात्रा में डेढ़ सौ दिन पानी में भिगोकर रख दें तथा प्रातकाल मल-त्याग करने के बाद इसमें 2 तोला मिश्री मिलाकर निरंतर 3-4 सप्ताह तक सेवन करें करने से (Night fall) स्वप्नदोष में को ठीक कर देता है।

शीतल  चीनी से स्वप्नदोष की रामबाण दवा बनाएं।

शीतल चीनी को लेकर कूट पीसकर बारीक चूर्ण बना लें इस चूर्ण की 2 माशा की मात्रा में खाकर ऊपर से पानी पी ले, इस प्रयोग स्वप्नदोष नही होता है। मसा की मात्रा में खाकर ऊपर से एक कप पानी पी ले इस प्रयोग से स्वप्नदोष नहीं होता है।

चोपचीनी, मिश्री और घी से स्वप्नदोष की रामबाण दवा बनाएं।

चोपचीनी को लेकर बारिश पीसकर छानकर बारीक चूर्ण बना लें तथा 1 तोला चोपचीनी, 1 तोला मिश्री, 1 तोला घी तीनों को मिलाकर 8 से 10 दिन तक सेवन करने से स्वप्नदोष में लाभ मिलता है।

त्रिफला चूर्ण और शहद से स्वप्नदोष की रामबाण दवा बनाएं।

त्रिफला चूर्ण लेकर उसमें शहद मिलाकर चाटने से स्वप्नदोष में अत्यंत लाभ मिलता है।

आंवला चूर्ण और मिश्री से स्वप्नदोष की रामबाण दवा बनाएं।

आंवला का चूर्ण और पिसी हुई मिश्री दोनों को 6-6 माशा की मात्रा में लेकर 60 दिनों (2 महीने) तक निरंतर सेवन करने से स्वप्नदोष व धात रोग दोनों ही ठीक हो जाते हैं।

बबूल के पत्तों से स्वप्नदोष की रामबाण दवा बनाएं।

बबूल के नरम नरम पत्तों को एक तोला की मात्रा में खाकर ऊपर से ठंडा पानी पीने से स्वप्नदोष रोग दूर हो जाता है।

जौ के काढ़े से स्वप्नदोष की रामबाण दवा बनाएं।

जौ के काढ़े को रात में बना कर रख ले तथा सुबह उठकर सेवन करें इस प्रयोग से स्वप्नदोष ठीक हो जाता है।

गिलोय और शहद से स्वप्नदोष की रामबाण दवा बनाएं।

गिलोय का रस एक तोला लेकर एक तोला शहद मिलाकर दिन में दो बार सेवन करें स्वप्नदोष रोग में बहुत आराम मिलती है।

अश्वगंधा चूर्ण और दूध से स्वप्नदोष की रामबाण दवा बनाएं।

5 ग्राम अश्वगंधा चूर्ण लेकर 50ml दूध में घोलकर सेवन करने से स्वप्नदोष मिट जाता है।

केले से स्वप्नदोष की रामबाण दवा बनाएं

भोजन के बाद सुबह शाम तो दो पके हुए केले की फलियां खाने से स्वप्नदोष आराम मिलती है।

स्वप्नदोष की आयुर्वेदिक दवाएं।
आयुर्वेदिक दवा लेने की मात्रा
चंद्रप्रभावटी –दिन में दो बार इसके साथ सेवन करें।
चंदनासव –20ml तथा पानी समान मात्रा में मिलाकर दिन में दो बार भोजन के बाद ले।
आंवला का मुरब्बा –सुबह शाम दो बार सेवन करें।
पंचासव –20ml तथा पानी समान मात्रा में मिलाकर दिन में दो बार भोजन के बाद ले।
स्वप्नदोष की रामबाण दवा

. हृदय रोग से पीड़ित व्यक्ति अपने चिकित्सक से सलाह के अनुसार या किसी बीमारी से पीड़ित हो, इन प्रयोगों से पहले अपने चिकित्सक की सलाह अवश्य लें।

Exit mobile version